BREAKING NEWS

Post Top Ad

Your Ad Spot
�� Dabwali न्यूज़ है आपका अपना, और आप ही हैं इसके पत्रकार अपने आस पास के क्षेत्र की गतिविधियों की �� वीडियो, ✒️ न्यूज़ या अपना विज्ञापन ईमेल करें dblnews07@gmail.com पर अथवा सम्पर्क करें मोबाइल नम्बर �� 9354500786 पर

बुधवार, मार्च 20, 2019

सेक्स करने के लिए महिला पुलिस ऑफिसर ने पुलिस वैन में छोड़ दी 3 साल की बेटी, वापस लौटी तो हो चुकी थी मौत




लॉन्ग बीच: मिसिसिपी में एक हैरान कर देना वाला मामला सामने आया है. जहां एक मां अपने बॉस के साथ सेक्स करने के लिए पुलिस वैन में अपनी बेटी को छोड़कर घर के अंदर चली जाती है. इस दौरान बेटी की घुटन की वजह से मौत हो गई. घटना 30 सितंबर 2016 की है, जब कैसी बार्कर (Cassie Barker) नाम की पुलिस अधिकारी ने अपनी बेटी शेने को कार की सीट पर लिटाया और अपने बॉस के साथ सेक्स करने के लिए उसके घर के अंदर चली गई.

जब महिला पुलिस अधिकारी चार घंटे के बाद वापस लौटी तो देखा कि उसकी बेटी का शरीर का तापमान बहुत ज्यादा हो गया था. हुआ कुछ यूं था कि महिला पुलिस अधिकारी और उसके बॉस दोनों को नींद आ गई थी. बार्कर जब वापस लौटी तो देखा कि उसकी बेटी हिलडुल नहीं रही है.

द वाशिंगटन पोस्ट की एक रिपोर्ट में लिखा गया है कि प्रशासन ने बताया कि बच्ची की मौत से पहले उसके शरीर का तापमान 107 डिग्री तक पहुंच गया था. हालांकि, यह स्पष्ट नहीं हो पाया कि बार्कर ने क्या अपनी बेटी को जानबूझकर कार के अंदर छोड़ा था? 29 वर्षीय बार्कर ने अपने खिलाफ लगे मानव हत्या के आरोप को हटाने से कोर्ट से मांग की है.

हैरिसन काउंटी सर्किट जज लैरी बोर्जोई ने बार्कर से कहा, 'मुझे नहीं पता कि मैं आपके साथ क्या कर सकता हूं जो आपके द्वारा पहले से अनुभव किए गए से भी बदतर हो.' बिलोक्सी सन हेराल्ड की रिपोर्ट के मुताबिक बार्कर हत्या के मामले में सेकंड डिग्री सजा से बच गई, क्योंकि उसने कोर्ट में अपना जुर्म कबूल लिया. अभियोजक पक्ष के बार्कर को 20 साल की सजा सुनाने की मांग की है, लेकिन जज ने कहा कि वह एक अप्रैल तक सजा पर विचार करेंगे.
एपी की रिपोर्ट के मुताबिक बच्ची की मौत के बाद ही बार्कर और उसके बॉस क्लार्क लेडनर को नौकरी से निकाल दिया गया था. हालांकि, लेडनर पर किसी तरह के आरोप नहीं लगे क्योंकि उसने प्रशासन को बता दिया था कि उसे नहीं पता था कि बार्कर की बेटी कार में है.

शेने के पिता रयान हैयर ने सोमवार को कहा कि उसकी बेटी की मौत उसे वर्षों से परेशान कर रही है. उसने कहा, 'मैं जब भी अपनी आंखें बंद करता हूं, वह दर्द में दिखाई देती है और फिर वह ताबूत में लेटे हुए नजर आती है. मैं अभी भी उसके हंसी और मुस्कुराहट को महसूस करता हूं. मुझे लगता है कि उस वक्त उसकी मुस्कुराहट और हंसी दर्द और पीड़ा में बदल गई थी.'
हायर को बाद में पता चला कि बार्कर ने एक साल पहले भी अपनी बेटी को कार में छोड़ दिया था. बार्कर एक स्टोर में गई थी, वहां से गुजरने वाले लोगों ने पुलिस को बुला लिया. इसके बाद पुलिस ने बच्ची को अस्थाई तौर पर अपनी कस्टडी में ले लिया था और उसे एक सप्ताह के लिए निलंबित कर दिया था. लेकिन हायर को यह कभी पता नहीं चला.



credit ndtv network 

कोई टिप्पणी नहीं:

Post Top Ad

पेज