BREAKING NEWS

Post Top Ad

Your Ad Spot
�� Dabwali न्यूज़ है आपका अपना, और आप ही हैं इसके पत्रकार अपने आस पास के क्षेत्र की गतिविधियों की �� वीडियो, ✒️ न्यूज़ या अपना विज्ञापन ईमेल करें dblnews07@gmail.com पर अथवा सम्पर्क करें मोबाइल नम्बर �� 9354500786 पर

मंगलवार, मार्च 12, 2019

राष्ट्रीय किसान ने फसलों का बीमा क्लेम देने की मांग की,संगठन डा. स्वामीनाथन आयोग की रिपोर्ट लागू की जाए,

डबवाली न्यूज़ 
राष्ट्रीय किसान संगठन के बैनर तले तहसील कॉम्पलैक्स में जुटे किसानों ने मंगलवार को प्रदेशाध्यक्ष जसवीर सिंह भाटी के नेतृत्व में नायब तहसीलदार सुरेंद्र मेहता को मांगों से संबंधित ज्ञापन सौंपा। इसमें साल 2017-18 का बकाया फसल बीमा क्लेम जल्द देने की मांग के साथ-साथ किसानों की अन्य समस्याओं को उठाया गया है। ज्ञापन में कहा है कि प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना के तहत खरीफ-2017 का बकाया बीमा क्लेम, जो अभी तक बहुत से किसानों को नहीं मिला है उन्हें जल्द दिया जाए। इस कारण किसान धरने प्रदर्शन करने को मजबूर हैं लेकिन बीमा प्रीमियम काटने वाले बैंक व अन्य अधिकारी किसानों की बात सुनने को तैयार नही हैं। इसके अलावा मांग उठाई है कि आने वाली रबी 2019 की फसलों को खरीदने का उचित प्रबंध समय रहते किया जाए। इसकी तैयारी प्रशासन ने अभी तक नहीं की है। जैसे बारदाना, पीने का पानी, सफाई व मंडियों में शौचालय का प्रबंध जल्द से जल्द करवाए जाएं।
ज्ञापन में उठाई गई किसानों की अन्य मांगों में खरीफ 2018 में भारी बरसात से खराब हुई फसलों का बीमा क्लेम देने की मांग भी की गई है। यह भी मांगें रखी हैं कि सरसों की सारी फसल एमएसपी रेट पर खरीदने का प्रबंध सरकार करे, डा. स्वामीनाथन आयोग की रिपोर्ट लागू की जाए, किसानों को कर्ज मुक्त किया जाए, नरमा बिजाई के लिए नहरी पानी 20 अप्रैल से 25 मई तक पूरा दिया जाए तथा ट्यूबवैलों को बिजली 10 घंटे लगातार दी जाए। जसवीर सिंह भाटी ने कहा कि सरकार द्वारा जिन किसानों की भूमि अधिगृहित की जा रही है उन्हें 2 करोड़ रुपए प्रति एकड़ का मुआवजा दिया जाए व संबंधित परिवार के एक सदस्य को सरकारी नौकरी सरकार को देनी चाहिए। इस अवसर पर अमरीक बिश्रोई, देवेंद्र भोभिया, जयदयाल मैहता नंबरदार, लखविंद्र अलीकां, शिवचरण डबवाली, देस राज लखुआना, राजेश लखुआना, रोहताश, राजेंद्र सिंह, बलवंत सिंह, बूटा सिंह, वकील सिंह, तारा सिंह, ओम विष्णु, सुखदर्शन सिंह व अन्य किसान काफी संख्या में मौजूद थे।

कोई टिप्पणी नहीं:

Post Top Ad

पेज