BREAKING NEWS

Post Top Ad

Your Ad Spot
�� Dabwali न्यूज़ है आपका अपना, और आप ही हैं इसके पत्रकार अपने आस पास के क्षेत्र की गतिविधियों की �� वीडियो, ✒️ न्यूज़ या अपना विज्ञापन ईमेल करें dblnews07@gmail.com पर अथवा सम्पर्क करें मोबाइल नम्बर �� 9354500786 पर

सोमवार, अप्रैल 01, 2019

लोदीपुर धाम में भी चैत्र की अमावस्या पर 5 अप्रैल को विशाल मेला. बिश्रोई समाज के अष्ट धामों में से एक धाम है लोदीपुर धाम

डबवाली न्यूज़
बिश्रोई समाज के अष्ट धामों में से एक धाम उत्तर प्रदेश में मुरादाबाद के पास लोदीपुर धाम है। यह धाम मुरादाबाद-दिल्ली रेल मार्ग पड़ता है।
करीब 537 वर्ष पूर्व गुरू जंभेश्वर भगवान की  प्रिय भक्तिनी सुरजी देवी वर्ष में एक बार समराथल धोरा पर गुरू जांभोजी के दर्शनार्थ जाती थी। बहुत वर्ष बीत जाने के बाद जब वह बुजुर्ग हो गई तो समराथल धोरा जाने में असमर्थ थी। इस पर उसने गुरू जांभोजी को प्रार्थना की कि अब वह नहीं आ सकती इसलिए आप स्वयं आकर दर्शन दें। अपने प्रिय भक्त की श्रद्धा देखकर गुरू जांभोजी ने सुरजी देवी की पुकार सुनी व लोदीपुर जाकर उसे दर्शन दिए। सुरजीदेवी ने गुरूजांभो जी से लोदीपुर में अपनी कोई निशानी छोड़ जाने को भी कहा ताकि लोग उसकी बात का विश्वास करें कि भगवान खुद लोदीपुर आए थे। इस पर गुरू जांभोजी ने सुरजी देवी को खेजड़ी की सूखी लकड़ी दी और उसे जमीन में गाडऩे को कहा। जैसे ही यह लकड़ी हरी होने लगी तो लोग समझ गए कि भगवान यहां पर स्वयं आए थे। इस लकड़ी से पनपा खेजड़ी का वृक्ष आज भी लोदीपुर में मौजूद है। गुरू जांभेाजी द्वारा सुरजी देवी को खेजड़ी की लकड़ी देते समय उनके पैर का निशान भी जमीन में अंकित हो गया। बाद में श्रद्धालुओं ने वहां गुरू जंभेश्वर भगवान का मंदिर स्थापित करवाया और लोदीपुर एक धाम में स्थापित हो गया। मंदिर में गुरू जांभोजी के पैर का वह निशान भी मौजूद है जिसके दर्शन कर श्रद्धालुजन खुद को धन्य मानते हैं।
बिश्रोई सभा सचिव इंद्रजीत बिश्रेाई ने उपरोक्त जानकारी देते हुए बताया कि लोदीपुर धाम में भी चैत्र की अमावस्या पर 5 अप्रैल को विशाल मेला लगेगा। इससे पहले 4 अप्रैल को मंदिर में जागरण भी होगा। इस दिन दोपहर बाद धाम के नजदीक स्थित शहर हरथला से भव्य शोभायात्रा लोदीपुर धाम तक निकाली जाएगी। उन्होंने बताया कि उक्त मेला बिश्रोई आश्रम हरिद्वार के महंत स्वामी राजेंद्रानंद जी महाराज के सांनिध्य में लगेगा। इसमें नोखा के विधायक बिहारी लाल बिश्रोई मुख्यातिथि व जोधुपर के पूर्व सांसद जसवंत सिंह बिश्रोई,उत्तरप्रदेश में कानपुर के पूर्व विधायक सलील बिश्रोई, दिल्ली के पुलिस कमिश्रर ओमवीर सिंह बिश्रोई विशिष्ट अतिथि होंगे। 5 अप्रैल शाम को आचार्य कृष्णानंद जी ऋषिकेश के सांनिध्य में पर्यावरण संगोष्ठी होगी। उन्होंने बताया कि 4 अप्रैल वीरवार को दोपहर 12.50 बजे अमावस्या लगेगी व 5 अप्रैल शुक्रवार को दोपहर बाद 2.20 बजे उतरेगी। वहीं, लोदीपुर धाम मंदिर समिति की ओर से श्रद्धालुओं के लिए आवास व भोजन आदि की व्यवस्था की जाएगी। लोदीपुर धाम जाने के लिए डबवाली से अवध-आसाम एक्सप्रैस के माध्यम से मुरादाबाद तक जाया जा सकता है। यह ट्रेन डबवाली रेलवे स्टेशन से रात्रि करीब 12 बजे चलकर अगले दिन 12 बजे मुरादाबाद पहुंचती है। वहां से श्रद्धालु बस में लोदीपुर धाम जा सकते हैं। इसके अलावा अमर ज्योति पत्रिका व जांभाणी साहित्य अकादमी की प्रकाशित पुस्तकों की स्टालें भी मेले में लगेंगी।

कोई टिप्पणी नहीं:

Post Top Ad

पेज