BREAKING NEWS

Post Top Ad

Your Ad Spot
�� Dabwali न्यूज़ है आपका अपना, और आप ही हैं इसके पत्रकार अपने आस पास के क्षेत्र की गतिविधियों की �� वीडियो, ✒️ न्यूज़ या अपना विज्ञापन ईमेल करें dblnews07@gmail.com पर अथवा सम्पर्क करें मोबाइल नम्बर �� 9354500786 पर

सोमवार, जुलाई 01, 2019

हर साल डॉक्टर दिवस पर जिला से दो डॉक्टर को किया जाएगा सम्मानित : सीएम

डॉक्टर दिवस पर मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने वीसी से किया जिला के एक सीएचसी व दो पीएचसी का उद्ïघाटन

सिरसा,1 जुलाई।
चिकित्सा क्षेत्र में बेहतर कार्य करने वाले डॉक्टर को डॉक्टर दिवस पर सम्मानित किया जाएगा। इसके लिए जिला के दो डॉक्टर को अवार्ड से नवाजा जाएगा। इस प्रकार से पूरे प्रदेशभर में 40 डॉक्टर को अवार्ड प्रदान किया जाएगा।

यह घोषणा मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने आज डॉक्टर दिवस के उपलक्ष्य पर पंचकूला में आयोजित राज्य स्तरीय कार्यक्रम में वीडियों कॉन्फ्रेंस के माध्यम से प्रदेश के डॉक्टरों को संबोधित करते हुए कहीं। इस अवसर पर उन्होंने वीडियो कॉफ्रेंसिंग के माध्यम से जिला के एक सीएचसी व दो पीएचसी का उद्ïघाटन भी किया। इनमें मोधोसिंगाना का सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र, गांव दड़बा कला व जमाल का प्राथमिक चिकित्सा केंद्र शामिल है। यहां गांव माधोसिंघाना में कार्यक्रम आयोजित किया गया, जिसमें उपायुक्त अशोक कुमार गर्ग, पर्यटन निगम के चेयरमैन जगदीश चौपड़ा, हरियाणा बीज विकास निगम के चेयरमैन पवन बैनीवाल, पूर्व चेयरमैन रेणु शर्मा, गुरदेव राही, सीएमओ गोविंद गुप्ता, डॉ. वीरेश भूषण, जिला आयुर्वेदिक अधिकारी डॉ. गिरीश चौधरी सहित गांव गणमान्य व्यक्ति, अधिकारी व डॉक्टर उपस्थित थे।
मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रदेश में पहली बार डॉक्टर दिवस पर राज्य स्तरीय कार्यक्रम का आयोजन किया गया है। इसी कड़ी में भविष्य में डॉक्टर दिवस पर चिकित्सा क्षेत्र में सराहनीय कार्य करने वाले डॉक्टर को अवार्ड से नवाजा जाएगा। प्रदेश के निजी व सरकारी अस्पताल के 44 डॉक्टरों को चिन्हित कर अवार्ड दिया जाएगा। अवार्ड की इस प्रक्रिया में प्रत्येक जिले से दो डॉक्टर चिन्हित होंगे, इनमें एक सरकारी व एक निजी अस्पताल से होगा।
मुख्यमंत्री ने कहा कि सरकार ने प्रदेश की चिकित्सा प्रणाली में सुधार करके सरकारी अस्पतालों के माध्यम से सीटी स्कैन व एमआरआई जैसी सुविधाए नि:शुल्क दी जा रही है। इसी उद्देश्य से प्रदेश में चिकित्सा शिक्षा को बढ़ावा देने के लिए नए मैडिकल कॉलेज भी शुरू किए गए है। हरियाणा में पहले एमबीबीएस की 700 सीटे होती थी, जिन्हें बढ़ाकर 1710 कर दिया गया है। सरकार का अगला लक्ष्य इन सीटों को बढ़ाकर 2010 करना है। उन्होंने कहा कि देश के हर नागरिक को विशेषकर गरीब वर्ग तक चिकित्सा सेवाएं पहुंचे इसी उद्ïेश्य से प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने देश में आयुष्मान भारत योजना शुरू करके गरीब वर्ग को ऊपर उठाने का काम किया है। इस योजना के तहत कोई भी व्यक्ति सरकार द्वारा चिन्हित किसी भी निजी अस्पताल में पांच लाख रूपये तक का ईलाज नि:शुल्क करवा सकता है।
मुख्यमंत्री ने कहा कि एक डॉक्टर लोगों को चिकित्सीय सेवाएं व्यवसाय रूप से कम बल्कि सेवाभाव से उपलब्ध करवाए। उन्होंने कहा कि माँ जीवन देती है, तो एक डॉक्टर भी मनुष्य को एक नया जीवन देने का काम करता है। इसलिए डॉक्टर के प्रति सम्मान भी अधिक बढ जाता है। उन्होंने कहा कि प्रदेश सरकार डॉक्टर की हर प्रकार की सुविधाओं के प्रति गंभीर है और इस दिशा में अनेक कदम भी उठाए गए हैं।
उन्होंने कहा कि आज हम भले ही आधुनिक चिकित्सीय पद्घति के दौर में हैं, लेकिन हमारे पूर्वजों की प्राचीन चिकित्सीय पद्घति भी कम नहीं थी। हमारी दादी-नानी अपने घरेलू नुस्खों से ही कई बीमारियों को ठीक कर देती थी। इन्हीं पद्घतियों में योग भी एक है। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के प्रयासों से योग को विश्व स्तर पर माना जाने लगा है। आज पूरी दुनिया ने मान लिया है कि योग से शरीर को स्वस्थ रखा जा सकता है। योग शारीरिक व इसलिए प्रत्येक व्यक्ति को स्वस्थ रहने के लिए योग जरूर करना चाहिए। कार्यक्रम को संबंोधित करते हुए प्रदेश के स्वास्थ्य मंत्री अनील विज ने कहा कि हरियाणा देश का पहला प्रदेश है जिसके सरकारी अस्पतालों में स्टंट डाला जाता है। उन्होंने कहा कि भाजपा सरकार का पहला उद्देश्य प्रदेश की शिक्षा व चिकित्सा व्यवस्था में सुधार करना है। इसी उद्देश्य से प्रदेश के छ: जिलों में नर्सिंग कॉलेज शुरू किए जा रहे हैं। वर्तमान में जनता का सरकारी अस्पतालों के प्रति विश्वास भी बढ़ा है।
डॉक्टर दिवस पर वीडियों कॉन्फ्रेंस के माध्यम से मुख्यमंत्री मनोहर लाल का शुभ संदेश सुनने पहुंचे चेयरमैन पवन बैनीवाल ने कहा कि यह बहुत ही खुशी का पल है कि जिला को एक सीएचसी व दो पीएचसी मिले हैं। इससे क्षेत्र के लोगों को चिकित्सीय दृष्टिï से लाभ पहुंचेगा। इसके लिए उन्होंने मुख्यमंत्री का आभार प्रकट किया। चेयरमैन जगदीश चौपड़ा ने भी भारतीय डॉक्टर की ईमानदारी व सेवभाव से कार्य को उदाहरण के रूप में उपस्थितजन को बताया। उन्होंने कहा कि प्रदेश सरकार द्वारा पहली बार एक जुलाई को डॉक्टर दिवस सरकारी तौर पर मनाया गया है, जोकि एक सराहनीय कदम है।
इस दौरान उपायुक्त ने चेयरमैन जगदीश चौपड़ा व पवन बैनीवाल के साथ मिलकर चिकित्सा केंद्र परिसर में पौधा रोपण भी किया। उन्होंने कहा कि स्वस्थ शरीर के लिए स्वच्छ वातावरण होना बहुत ही जरूरी है। इसलिए प्रत्येक व्यक्ति को चाहिए कि वह अधिक से अधिक पेड़ पौधे लगाकर पर्यावरण सरंक्षण में अपना सहयोग करें।

कोई टिप्पणी नहीं:

Post Top Ad

पेज