BREAKING NEWS

Post Top Ad

Your Ad Spot
�� Dabwali न्यूज़ है आपका अपना, और आप ही हैं इसके पत्रकार अपने आस पास के क्षेत्र की गतिविधियों की �� वीडियो, ✒️ न्यूज़ या अपना विज्ञापन ईमेल करें dblnews07@gmail.com पर अथवा सम्पर्क करें मोबाइल नम्बर �� 9354500786 पर

मंगलवार, सितंबर 03, 2019

नैना चौटला सहित JJP से जुड़े चार विधायकों का इस्‍तीफा,क्या चौटाला परिवार में एकता की कोशिशों के बीच इसका होगा असर



डबवाली न्यूज़ । चौटाला परिवार में फिर से एकजुटता की काेशिशों के बीच हरियाणा मेें बड़ा घटनाक्रम हुआ है। जननायक जनता पार्टी से जुड़े चार इनेलो विधायकों ने हरियाणा विधानसभा की सदस्‍यता से इस्तीफा दे दिया है। इनमें दुष्‍यंत चौटाला की मां नैना चौटाला भी शामिल हैं। चारों विधायकों ने मंगलवार को विधानसभा अध्‍यक्ष कंवर पाल गुर्जर को अपने इस्‍तीफे सौंपे।

बता दें कि दलबदल को लेकर दी गई याचिका के मामले में विधानसभा अध्‍यक्ष कंवरपाल गुर्जर ने चारों विधायकों को आज अपना पक्ष रखने का अंतिम मौका दिया था। मंगलवार को चारों विधायक विधानसभा अध्यक्ष से मिलने पहुंचे और अपने इस्‍तीफे सौंप दिए। इस्‍तीफा देने वाले विधायक हैं नैना चौटाला, राजदीप फोगाट, अनूप धानक और पिरथी नंबरदार।



विधानसभा अध्‍यक्ष ने उनके इस्‍तीफे तत्‍काल मंजूर कर लिये। इनेलो की ओर से इन चारों विधायकों के खिलाफ दलबदल करने के आरोप लगाते हुए उनकी सदस्‍यता समाप्‍त करने के लिए विधानसभा अध्‍यक्ष को याचिका दी थी। इनेलो विधायक दल के नेता अभय सिंह चौटाला ने दल बदल कानून के तहत चारों विधायकों की विधानसभा से सदस्यता रद करने की मांग की थी। इसके बाद स्‍पीकर ने चारों विधायकों नैना चौटाला, राजदीप फोगाट, अनूप धानक और पिरथी नंबरदार को नोटिस जारी कर जवाब मांगा था।
कई बार जवाब देने का मौका देने के बाद विधानसभा अध्‍यक्ष कंवरपाल गुर्जर ने मंगलवार को इन विधायकों को जवाब देने का अंतिम अवसर दिया था। इससे इन विधायकों की मुश्किलें बढ़ गई थीं। चारों विधायकों को मंगलवार को वकीलों के साथ विधानसभा अध्यक्ष के सामने पेश होना है। आखिरी बहस के साथ ही गेंद विधानसभा अध्यक्ष कंवरपाल गुर्जर के पाले में चली जाएगी।




दल-बदल विरोधी कानून का सामना कर रहे दो विधायक पिरथी सिंह नंबरदार और अनूप धानक पिछली सुनवाई पर 27 अगस्त को पेश हुए थे, जबकि नैना चौटाला व राजदीप फौगाट ने पत्र लिखकर इस पेशी से छूट मांगी थी। इसके बाद स्पीकर ने मामले में आखिरी सुनवाई के लिए 3 सितंबर को चारों विधायकों को तलब किया था।


source jagran .com 

कोई टिप्पणी नहीं:

Post Top Ad

पेज