Young Flame Young Flame Author
Title: सडको पर बढता अतिक्रमण ,प्रशासन गहरी नीद में
Author: Young Flame
Rating 5 of 5 Des:
डबवाली - जिला के पुलिस अधिक्षक देवेंद्र यादव ने सिरसा शहर में अवैध अतिक्रमण करने वालो व यातायात नियमों की उलंघना करने वा...
डबवाली- जिला के पुलिस अधिक्षक देवेंद्र यादव ने सिरसा शहर में अवैध अतिक्रमण करने वालो यातायात नियमों की उलंघना करने वालों पर शिकंजा कसतें हुए शहर को सुंदर बनाने का बीड़ा उठाया है। वहीं डबवाली शहर में अवैध अतिक्रमण यातायात नियमों की उलंघना एक आम बात हो गई है और यह सब जानते हुए भी यहां का प्रशासन गहरी निद्रा में है। शहर का ऐसा कोई भी क्षेत्र नहीं है जहां पर अवैध अतिक्रमण हो। शहर के मुख्य बाजार में आज कल दुकानदारों में एक-दूसरे के आगे सामान लगाने की होड़ लगी हुई है। यहां तक की दुकादारों की दुकान की लंबाई 20 फीट है तो 10 फीट तक अवैध अतिक्रमण किया हुआ है। शहर का चौड़ा बाजार कहा जाने वाला सब्जी मंडी क्षेत्र आज कल रेहडिय़ों दुकानदारों द्वारा किए गए अवैध अतिक्रमण से सकरा हो गया है। इस क्षेत्र से अपने दुपहिया वाहन को निकालना एक बहुत बड़ी बात है। वहीं मीना बाजार में दुकानदारों द्वारा किए गए अतिक्रमण के चलते वहां से दुपहिया वाहन निकालना तो दूर की बात है वहां से पैदल चलना भी दुभर हो गया है। वहीं जीटी रोड पर दुकानदारों ने अपने सामान को सड़क तक रखा हुआ है जिससे वहां से गुजरने वाले वाहनों को भारी परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। वहीं बस स्टेंड रोड सकरी होने के बावजूद दुकानदारों ने अपने सामान से आधी सड़क को रोका हुआ है। कॉलोनी रोड पर अतिक्रमण के साथ-साथ यातायात व्यवस्था भी चरमरा कर रह गई है। इस सड़क पर दुपहिया वाहन तो खड़े ही रहते और खरीददारी करने आए लोग अपने चौपहिया वाहनों को बेरतरतीब तरीके से सड़क पर खड़ा कर इधर-उधर निकल जाते है। जिससे दिन में कई बार जाम की स्थिति उत्पन्न हो जाती है लेकिन इस और प्रशासन का कोई ध्यान नहीं जा रहा। उधर नगरपालिका प्रशासन द्वारा अतिक्रमण हटाओ अभियान छेड़ा जाता है लेकिन यह अभियान एक-दो दिन तक जारी रहता है और नतीजा वहीं ढाक के तीन पात तक सीमित रह जाता है। अधिकारियों की उदासीनता के चलते पूरे शहर में अतिक्रमण अपने पैर पसार रहा है। स्थानीय लोगों ने प्रशासन से मांग की है कि जल्द से जल्द सड़कों पर लगे अतिक्रमण को हटाया जाए तथा अतिक्रमण करने वालों के खिलाफ कार्रवाई करें ताकि लोगों को परेशानी का सामना करना पड़े।
प्रतिक्रियाएँ:

About Author

Advertisement

एक टिप्पणी भेजें