Dabwalinews.com Dabwalinews.com Author
Title: बिल्डिंग में नहीं कोई सुविधा और मुख्यमंत्री ने कर दिया सिरसा से उद्घाटन अभी इमारत में हो रहा रंग-रोगन, न कोई बैड न कोई अन्य चिकित्सा सुविधा
Author: Dabwalinews.com
Rating 5 of 5 Des:
 नई सब्जी मंडी का उदघाटन हुए बीते 8 माह अब तक नहीं बसी डबवाली (सुखपाल)। नागरिक अस्पताल में 5 करोड़ की  लागत से 100 बैड के अतिरिक्त भवन ...
 नई सब्जी मंडी का उदघाटन हुए बीते 8 माह अब तक नहीं बसी
डबवाली (सुखपाल)।
नागरिक अस्पताल में 5 करोड़ की  लागत से 100 बैड के अतिरिक्त भवन का निर्माण कार्य पूरा हो चुका है। रंग-रोगन और अन्य बहुत से काम अभी अधूरे हैं। अभी तक न कोई बैड लगे हैं और न ही कोई स्वास्थ्य संबंध उपकरण ही स्थापित किए गए हैं। चिकित्सकों सहित अन्य कर्मचारियों का भी अभी कोई अता-पता नही है। इसके बावजूद भी मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर ने सिरसा के दो दिवसीय प्रवास के दौरान इस भवन का उद्घाटन सिरसा से ही कर दिया। मुख्यमंत्री ने कहा है कि इससे लोग बेहतर स्वास्थ्य सुविधा का लाभ ले सकेंगे। नागरिक हस्पताल डबवाली के अतिरिक्त तीन मंजिला भवन में ओपीडी कक्ष, विश्राम कक्ष, लिफ्ट, रिकार्ड रुम, शौचालय, 48 बैड का वॉर्ड रूम, नर्सिंग ड्यूटी रूम व अन्य आधुनिक सुविधाएं उपलब्ध करवाई गई है।  अब यह अलग बात है कि यह सुविधाएं उदघाटन के कितने माह बाद और कब तक जनता को मिल पाएंगी इसका अभी कुछ भी अता-पता नहीं है। बता दें कि लगभग 8 माह पूर्व मुख्यमंत्री मनोहल लाल ने इसी प्रकार सिरसा दौरे के दौरान वहीं के रेस्ट हाऊस से ही नई सब्जी मंडी का उद्घाटन किया था।
उद्घाटन के बाद से लेकर अब तक नई सब्जी मंडी में न तो कोई सब्जी दिखाई देती है और न ही कोई विक्रेता। इतना लंबा समय बीत जाने के बावजूद भी मार्केट कमेटी द्वारा सब्जी विके्रताओं को न तो दुकानें अलाट की गई हैं और न ही अन्य किसी तरह की कोई कार्रवाही अमल में लाई गई है। इस बाबत न तो स्थानीय नेताओं के पास जवाब है और न मार्केट कमेटी के पास की आखिर यह सब्जी मंडी कब रोशन होगी।
सबसे बड़ी विडंबना तो यह है कि 100 बिस्तरों का अतिरिक्त अस्पताल में भी अभी तक कोई सुविधाएं उपलब्ध नहीं करवाई गई और बहुत सा काम अभी बाकी है। ऐसे में इतनी जल्दी उद्घाटन कर देने का क्या औचित्य है। इस बारे में ‘dabwalinews.com ’ के संवाददाता ने आमजन से बात की तो अधिकतर लोगों ने सरकार पर डबवाली शहर के साथ भेद भावपूर्ण रवैया अपनाने की बात कही। उनका कहना था कि सरकार घोषणाएं तो करती है लेकिन कोई भी कार्य सरकार के चार वर्ष के कार्यकाल में संपूर्णता की ओर नहीं बढ़ पाया है।
प्रतिक्रियाएँ:

About Author

Advertisement

एक टिप्पणी भेजें