Young Flame Young Flame Author
Title: नेशनल हाईवे पर काल बने पशु
Author: Young Flame
Rating 5 of 5 Des:
24 घंटों में एक की मौत, सोलह लोग घायल #dabwalinews.com डबवाली । नेशनल हाईवे पर लावारिस पशु लोगों के लिए काल बन रहे हैं। डबवाली में 24 ...
24 घंटों में एक की मौत, सोलह लोग घायल
#dabwalinews.com
डबवाली । नेशनल हाईवे पर लावारिस पशु लोगों के लिए काल बन रहे हैं। डबवाली में 24 घंटों के भीतर अलग-अलग हादसों में एक युवक की जान चली गई। जबकि सोलह लोग घायल हो गए। सड़क पर मंडराती मौत पर प्रशासन मौन है। जिले भर में अब तक 21 लोगों की मौत हो चुकी है। इसके बावजूद प्रशासन कदम नहीं उठा रहा। आखिर प्रशासन की चुप्पी कब तक बनी रहेगी?
रात करीब साढ़े आठ बजे गोल चौक पर लावारिस पशुओं के कारण हुए हादसे में एक युवक की मौत हो गई। मृतक की पहचान मौजगढ़ निवासी जसवंत सिंह पुत्र बचन सिंह बिल्लू के रूप में हुई है। वह अपने साथी वकील उर्फ काका सिंह के साथ बाइक पर जा रहा था कि लावारिस पशु सामने आ गया। जैसे ही बाइक ने ब्रेक लगाई तो बाइक अनियंत्रित होकर गिर गया। जसवंत सड़क पर जा गिरा जबकि काका दूसरी साइड में। पीछे से आ रहे ट्रक ने जसवंत को रौंद दिया जबकि काका सिंह के गिरने से मामूली चोटें आई। हादसे के तुरंत बाद चालक मौके से फरार हो गया। मृतक डबवाली में बाइक मैकेनिक था। दोनों दुकान मंगल करके गांव लौट रहे थे। शहर थाना पुलिस ने वकील के बयान पर ट्रक चालक के खिलाफ केस दर्ज किया है। मंगलवार को सिविल अस्पताल से शव का पोस्टमार्टम करवाने के बाद पुलिस ने शव को उसके वारिसों को सौंप दिया।
वहीं सोमवार अल सुबह करीब साढ़े चार बजे गोल चौक के नजदीक एनएच-54 पर बीएसएनएल के टेलीफोन मैकेनिक लेखराज को लावारिस पशुओं ने पटक दिया। राहगीरों ने उपचार के लिए उन्हें सिविल अस्पताल में दाखिल करवाया।
बस से टकराकर दो सांड़ मरे, 15 सवारियां घायल
सोमवार रात करीब साढ़े नौ बजे सिरसा रोड पर एक अन्य हादसा भी पशुओं के कारण हुआ। डेरा बाबा मनसा दास के नजदीक हरियाणा रोडवेज की बस दो लावारिस सांड़ों से टकरा गई। बस में सवार 15 सवारियों के चोटें आईं। यात्री जगदीप ने बताया की रोडवेज की एक बस दिल्ली से डबवाली के लिए आ रही थी। इसी दौरान दो पशु सामने आ गए। ड्राइवर ने पशुओं को बचाने का प्रयास किया। इसके बावजूद बस पशुओं से टकरा गई। बस में सवार यात्री घायल हो गए। मंगलवार सुबह तक पशु एनएच-9 के बीचों-बीच पड़े रहे। दुकानदारों तथा समाजसेवियों ने मिलकर जेसीबी से उन्हें दफन करवाया।
अब तक 21 मौतें
जिला सिरसा सबसे ज्यादा गो शालाओं वाला जिला है। इसके बावजूद सबसे ज्यादा लावारिस पशु भी इसी जिले में हैं, जो अब तक 21 जिंदगियां लील चुके हैं। भारतीय वायुसेना के एक जवान तथा हरियाणा पुलिस के इंस्पेक्टर भी लवारिस पशुओं के कारण काल का ग्रास बन चुके हैं। इसके बावजूद प्रशासन सबक नहीं ले रहा।
प्रतिक्रियाएँ:

About Author

Advertisement

एक टिप्पणी भेजें

 
Top