Young Flame Young Flame Author
Title: बादल राज में रिश्वत रिश्वत लेते भी पकड़ी जा चुकी है लिंग जांच की आरोपी डॉ. जग्गा
Author: Young Flame
Rating 5 of 5 Des:
#dabwalinews.com श्री मुक्तसर साहिब हरियाणा के सिरसा के स्वास्थ्य विभाग एवं पुलिस की ओर से बीते बुधवार की रात को लिंग जांच करते हुए रं...
#dabwalinews.com श्री मुक्तसर साहिब

हरियाणा के सिरसा के स्वास्थ्य विभाग एवं पुलिस की ओर से बीते बुधवार की रात को लिंग जांच करते हुए रंगेहाथ पकड़ी गई श्री मुक्तसर साहिब के जनता अस्पताल की संचालक एवं सेवानिवृत्त सहायक सिविल सर्जन डॉ. मीना जग्गा, उसके अस्पताल में काम करने वाले मुलाजिम जसपाल सिंह तथा दलाल बलजीत सिंह के खिलाफ स्थानीय थाना सिटी में पीसीएवं पीएनडीटी एक्ट के तहत विभिन्न धाराओं के तहत मुकदमा दर्ज कर लिया गया है।

वीरवार को पुलिस ने डॉ. मीना जग्गा व अन्य दोनों लोगों को चीफ ज्यूडिशियल मजिस्ट्रेट की अदालत में पेश करके तीन दिन के पुलिस रिमांड की मांग की, लेकिन अदालत ने तीन दिन की बजाए एक दिन का रिमांड ही मंजूर किया। पुलिस रिमांड दौरान डॉ. जग्गा सहित तीनों आरोपियों से अहम खुलासे होने की संभावना जताई है।

गौरतलब है कि बुधवार की सुबह सिरसा पुलिस को सूचना मिली थी कि सिरसा के लोग श्री मुक्तसर साहिब के जनता अस्पताल में लिंग जांच करवाने के लिए जाते है। इस पर सिरसा पुलिस ने सिरसा के स्वास्थ्य विभाग और मुक्तसर के स्वास्थ्य विभाग के साथ मिलकर स्टिंग ऑपरेशन किया। सिरसा के सीआइए स्टाफ के प्रभारी सुखबीर सिंह, सिरसा के सीएमओ डॉ. राजकुमार व एसएमओ डॉ. विरेश भूषण, मुक्तसर के कार्यवाहकसिविल सर्जन एसएमओ डॉ. बोहड़ सिंह, जिला भलाई अफसर डॉ. जागृति चंदन व डॉ. रेनू चावला की संयुक्त टीम ने बुधवार की रात को अपनी बनाई गई योजना के तहत डॉ. मीना जग्गा को लिंग जांच करते हुए रंगेहाथ काबू कर लिया। इस दौरान यह सौदा कराने वाले उसके अस्पताल के मुलाजिम जसपाल सिंह निवासी गांव रोड़ांवाली व दलाल बलजीत सिंह निवासी गांव भलाईआणा को भी काबू कर लिया गया। इसके साथ ही लिंग जांच व गर्भपात करने के लिए वसूल किए 25 हजार रुपये भी बरामद कर लिए।

बस पछतावा ही पछतावा है 
बुधवार की रात को जहां गिरफ्तारी के दौरान डॉ. मीना जग्गा ने टीम के समक्ष स्वीकार किया कि उसके अस्पताल में लिंग जांच होती रहती है। वहीं, वीरवार को अदालत में पेश करने से पहले जब उनसे पूछा गया कि क्या उन्हें अपने इस काम पर पछतावा है तो उन्होंने कहा कि बस पछतावा ही पछतावा है।

रिश्वत लेते भी पकड़ी जा चुकी हैं
गौरतलब है कि अपनी सरकारी सेवा के दौरान भी डॉ. मीना जग्गा अकसर विवादों में रही हैं। करीब दस साल पहले जब वह जिला सिविल अस्पताल में बतौर गायनी तैनात थी तो वह एक मरीज से 300 रुपये रिश्वत लेते हुए पकड़ी गई थी। विजिलेंस ब्यूरो ने उसे रंगेहाथ रिश्वत लेते काबू किया था।


पंजाब के सीएम प्रकाश सिंह बादल के होम डिस्ट्रिक मुक्तसर में बेखौफ चल रहा था लिंग जांच का गोरखधंधा


प्रतिक्रियाएँ:

About Author

Advertisement

एक टिप्पणी भेजें