?? Dabwali ????? ?? ???? ????, ?? ?? ?? ??? ???? ??????? ???? ?? ??? ?? ??????? ?? ?????????? ?? ?? ??????, ?? ????? ?? ???? ???????? ???? ???? dblnews07@gmail.com ?? ???? ??????? ???? ?????? ????? ????? ?? ????? ?????????? ?? ???? ???? ??? ?? ???? ?????? ????? ???? ????? ??? ?? 9416682080 ?? ???-??, ????-?? ?? ?????? ?? ???? ??? 9354500786 ??

Trending

3/recent/ticker-posts

Labels

Categories

Tags

Most Popular

Secondary Menu
recent
Breaking news

Featured

Haryana

Dabwali

Dabwali

health

[health][bsummary]

sports

[sports][bigposts]

entertainment

[entertainment][twocolumns]

सिरसा पुलिस की पूरे हरियाणा में गूंज पुलिस अधीक्षक डा. अर्पित जैन की कार्यप्रणाली बनीं अन्य के लिए मिसाल

Dabwalinews.com
सिरसा के पुलिस अधीक्षक डा. अर्पित जैन के कुशल नेतृत्व में जिला पुलिस के कामकाज की प्रदेशभर में गूंज सुनाई पडऩे लगी है।
हरियाणा ही नहीं बल्कि पड़ौसी राज्यों में भी सिरसा पुलिस की मिसाल दी जाने लगी है। डा. जैन की कार्यशैली को अन्य द्वारा भी अपनाने पर बल दिया गया है ताकि रिजल्ट हासिल हो सकें। सिरसा पुलिस का यह कायाकल्प डा. जैन के 9 माह के अल्प कार्यकाल में हो पाया है। पुलिस अधीक्षक ने पुलिस की छवि को उज्जवल करने का काम किया है। खा$की को आम आदमी का मददगार साबित किया है। 'सेवा, सुरक्षा व सहयोगÓ के आदर्श वाक्य पर सिरसा पुलिस आगे बढ़ रही है, जिसकी वजह से पुलिस को आमजन को समर्थन मिलने लगा है। पुलिस को असामाजिक तत्वों के बारे में सटीक सूचनाएं प्राप्त होने लगी है। पुलिस की सफलता का ग्राफ भी बढऩे लगा है। यह सब संभव हुआ है पुलिस अधीक्षक डा. अर्पित जैन के गंभीर प्रयासों से।डा. जैन ने लोगों का विश्वास जीतने की दिशा में कार्य किया। वे स्वयं लोगों के बीच पहुंचें। लोगों की समस्या सुनीं और समझी। उन्होंने लोगों से जो वादा किया, उसे पूरा करके दिखाया। परिणाम स्वरूप पुलिस को सिरसा की जनता का भरपूर सहयोग और समर्थन प्राप्त हो रहा है। जनसमर्थन का पुलिस अधीक्षक ने नशे के खिलाफ बखूबी इस्तेमाल किया। उन्होंने इसे जन आंदोलन में तब्दील कर दिया। पुलिस अधिकारी गांव-गांव, स्कूल-कालेज व चौपाल तक पहुंचें। पुलिस अधीक्षक ने स्वयं संवाद कायम किया। युवाओं को नशे से दूर रहने के लिए प्रेरित किया, वहीं नशा तस्करों को धर दबोचने के लिए अभियान चलाया। परिणाम सबके सामने है। नौ माह के दौरान जिला पुलिस की उपलब्धियों का ग्राफ चढ़ा है।

सर्च अभियान के आएंगे परिणाम

पुलिस अधीक्षक डा. अर्पित जैन द्वारा इन दिनों विभिन्न एरिया में औचक सर्च अभियान चलाया जा रहा है। इस अभियान के निकट भविष्य में क्रांतिकारी परिणाम आने तय है। दरअसल, अपराधियों द्वारा वारदात के बाद यहां-वहां छिपने की कोशिश की जाती है। ऐसे में पुलिस की ओर से औचक सर्च अभियान चलाए जाने से असामाजिक तत्वों के लिए सिरसा जिला में शरण लेना खतरे से खाली नहीं होगा। वे सिरसा से पलायन कर जाएंगे या फिर किसी दिन सर्च अभियान में पुलिस द्वारा दबोच लिए जाएंगे। इसके साथ ही सर्च अभियान के दौरान आपराधिक गतिविधियों में संलिप्त रहें लोगों पर भी अतिरिक्त दबाव रहेगा कि वे सुधर जाए। उनका एक भी गलत कदम उन्हें सलाखों के पीछे पहुंचा देगा। इस अभियान से सिरसा जिलावासियों को शांतिपूर्ण माहौल मिल पाएगा।

रिकार्ड बेल जंपर पहुंचाए जेल

पुलिस अधीक्षक डा. अर्पित जैन की अगुवाई में जिला पुलिस द्वारा अभियान चलाकर बेल जंपरों को सलाखों के पीछे पहुंचाया गया। इस मामले में सिरसा ने पूरे हरियाणा में नया रिकार्ड कायम किया, जिसकी पूरे प्रदेश में गूंज सुनाई पड़ रही है। पुलिस के आला अधिकारी पुलिस अधीक्षक डा. जैन के कार्य की मुक्त कंठ से तारीफ कर रहे है। वारदात के बाद अथवा अदालत से जमानत मिलने के बाद गायब होने वालों को अदालत द्वारा उद्घोषित अपराधी (पीओ) घोषित कर दिया जाता है। ऐसे लोग नाम व पहचान बदलकर दूसरी जगहों पर छिप जाते है। लेकिन पुलिस अधीक्षक ने ऐसे लोगों को टोह-टोह कर सलाखों के पीछे पहुंचाने का कार्य किया।

नशा मुक्ति के लिए पहले भी सराहें गए एसपी

नेशनल कमीशन फॉर प्रोटक्शन ऑफ चाइल्ड राइट्स (एनसीपीसीआर)द्वारा बच्चों व युवाओं को नशे से बचाने की दिशा में किए जा रहे प्रयासों को लेकर राष्ट्रीय स्तर सर्वे किया। जिसमें देश के 300 जिलों का आंकलन किया गया। जिसमें 20 जिलों के कार्य को सराहा गया। जिसमें पूरे हरियाणा से केवल सिरसा जिला शामिल है। पुलिस अधीक्षक डा. अर्पित जैन द्वारा 'आपरेशन क्लीनÓ के तहत किए गए कार्य को एनसीपीसीआर द्वारा सराहा गया। पुलिस ने नशा तस्करों की धरपकड़ का अभियान चलाया, साथ ही लोगों को जागरूक करने पर भी जोर दिया। दोहरा मोर्चा खोलकर चलाए गए इस अभियान के सार्थक परिणमा भी आए और देशभर में इसकी गूंज भी हुई। देश के चयनित किए गए 20 जिलों में सिरसा का नाम शुमार होना बड़ी उपलब्धि है, जिसका श्रेय पुलिस अधीक्षक डा. अर्पित जैन के प्रयासों को जाता है।

No comments: