?? Dabwali ????? ?? ???? ????, ?? ?? ?? ??? ???? ??????? ???? ?? ??? ?? ??????? ?? ?????????? ?? ?? ??????, ?? ????? ?? ???? ???????? ???? ???? dblnews07@gmail.com ?? ???? ??????? ???? ?????? ????? ????? ?? ????? ?????????? ?? ???? ???? ??? ?? ???? ?????? ????? ???? ????? ??? ?? 9416682080 ?? ???-??, ????-?? ?? ?????? ?? ???? ??? 9354500786 ??

Trending

3/recent/ticker-posts

Labels

Categories

Tags

Most Popular

Secondary Menu
recent
Breaking news

Featured

Haryana

Dabwali

Dabwali

health

[health][bsummary]

sports

[sports][bigposts]

entertainment

[entertainment][twocolumns]

धरनारत किसानों द्वारा मुख्यमंत्री के नाम सौंपे मांगपत्र को डॉ केवी सिंह ने मुख्यमंत्री के सिंचाई सलाहकार को सौंपा

Dabwalinews,com
पिछले कई दिनों से नहरी पानी विवाद को लेकर डबवाली के लघु सचिवालय में बैठे 15-16 गांवों के किसानों द्वारा हलका डबवाली के विधायक अमित सिहाग को मुख्यमंत्री के नाम सौंपे गए मांग पत्र को वरिष्ठ कांग्रेस नेता डॉ केवी सिंह ने मुख्यमंत्री के नहरी विभाग के निजी सलाहकार देवेंद्र सिंह को सौंपा।यह जानकारी देते हुए हलका डबवाली के विधायक अमित सिहाग ने बताया कि कुछ दिन पूर्व किसानों के एक शिष्टमंडल ने उनसे मुलाकात कर इस विवाद को सुलझाने के लिए मुख्यमंत्री के नाम एक मांग पत्र उन्हें सौंपा था। उन्होंने कहा कि बतौर विधायक किसानों व किसी भी वर्ग द्वारा उठाई की मांग को अंतिम गंतव्य तक पहुंचाना उनका फर्ज है और इसी के मद्देनजर उन्होंने इसके लिए प्रयास किए हैं।
सिहाग ने बताया कि मुख्यमंत्री की व्यसता के चलते मुलाकात का समय ना मिलने के कारण वरिष्ठ कांग्रेस नेता डॉ केवी सिंह ने नहरी विभाग देख रहे मुख्यमंत्री के सलाहकार देवेंद्र सिंह से मुलाकात कर किसानों द्वारा दिया गया मांग पत्र सौंप उसे मुख्यमंत्री तक पहुंचाने का आग्रह किया।
मुख्यमंत्री के सलाहकार ने डॉ केवी सिंह को विश्वास दिलाया कि वह सभी तथ्यों की जानकारी जुटाकर मुख्यमंत्री को शीघ्र प्रभाव से इस मुद्दे से अवगत करवाएंगे ताकि न्याय संगत फैसला लिया जा सके।
विधायक सिहाग ने अपनी मांग को दोहराते हुए कहा कि मुख्यमंत्री जनता दरबार में दोनों पक्षों के किसानों को बुलाकर बातचीत के माध्यम से एक सर्वमान्य, न्याय संगत फैसला लें। जिससे सभी किसानों को सिंचाई के लिए पर्याप्त पानी मिल सके और किसी भी पक्ष का नुकसान ना हो।

No comments: