Young Flame Young Flame Author
Title: सरकारी स्कूलों में तिरंगा फहराएंगी सबसे होनहार बेटियां
Author: Young Flame
Rating 5 of 5 Des:
#dabwalinews.com डबवाली। इस बार का आजादी पर्व बेटियों के लिए खास होने जा रहा है। अब सरपंच या फिर एसएमसी कमेटी प्रधान नहीं, बल्कि बेटिय...

#dabwalinews.com
डबवाली। इस बार का आजादी पर्व बेटियों के लिए खास होने जा रहा है। अब सरपंच या फिर एसएमसी कमेटी प्रधान नहीं, बल्कि बेटियां सरकारी स्कूलों में ध्वजारोहण करेंगी। इसके साथ ही उन्हें स्कूल की ब्रांड एंबेसडर बनाया जाएगा। 15 अगस्त 1947 को देश आजाद होने के बाद यह पहला मौका है जब किसी सरकार ने बेटियों को तिरंगा फहराने का अधिकारिक अधिकार दिया है। इस संबंध में शिक्षा विभाग ने प्रदेश के सभी जिला शिक्षा अधिकारियों को आदेश जारी किए हैं।
सबसे अधिक पढ़ी-लिखी बालिका करेगी ध्वजारोहण ः हरियाणा सरकार स्वतंत्रता दिवस को बेटी बचाओ, बेटी पढ़ाओ कार्यक्रम के आलोक में मनाने जा रही है। तिरंगा फहराने का गौरव प्राप्त करने के लिए बेटियों को स्कूल में आवेदन करना होगा। बेटियां अपनी उच्च शिक्षा का उल्लेख दर्ज करवाएंगी। आवेदनों का अवलोकन करने के बाद एसएमसी 10 अगस्त 2015 तक यह निर्णय करेगी कि कौन सी बेटी सबसे ज्यादा पढ़ी-लिखी है। निर्णय के उपरांत उस बेटी को लिखित में ससम्मान निमंत्रण दिया जाएगा। उसके साथ-साथ उसके परिवार को भी आमंत्रित किया जाएगा। आजादी पर्व पर बेटी मुख्यातिथि होगी। सरकार के आदेशानुसार प्रदेश के प्रत्येक सरकारी स्कूल की एसएमसी समिति छह अगस्त को बैठक आयोजित करेंगी। 15 अगस्त के कार्यक्रम में परिजनों को निमंत्रण देने के लिए स्कूल की सहायता से बच्चों की कॉपी पर एक नोट लिखकर दिया जाएगा। प्रत्येक बच्चे को नोट पर परिजनों के हस्ताक्षर करवाना अनिवार्य किया जाएगा।
गांव में सबसे ज्यादा पढ़ी लिखी बेटी ढूंढने के लिए सरपंच, आंगनवाड़ी वर्कर, मिड-डे मील वर्कर ग्रामीणों को अवगत करवाएंगे। इसके साथ ही सार्वजनिक रूप से धार्मिक स्थलों से इसका प्रचार किया जाएगा। गांव का चौकीदार भी घर-घर संदेश पहुंचाएगा। इसके अतिरिक्त कार्यक्रम में विभिन्न परीक्षाओं में गांव में प्रथम आने वाली बेटियों को पुरस्कार देकर सम्मानित किया जाएगा।
ब्रांड एंबेसडर बनेगी बेटी
हरियाणा सरकार के आदेशानुसार सभी विद्यालयों में ध्वजारोहण करने वाली बेटियों को पूरे वर्ष के लिए वार्ड/गांव स्तर की ब्रांड एंबेसडर बनाया जाएगा। पूरा वर्ष बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ की संदेश वाहक के रूप में स्कूल की मदद करेंगी। स्कूल इनको एसएमसी सदस्य के रूप में मानद सदस्यता प्रदान करेगा। सभी बैठकों में इन बेटियों को आमंत्रित करेगा। 15 अगस्त पर होने वाले कार्यक्रम के लिए खंड तथा जिला स्तर पर अधिकारियों की नियुक्तियां कर दी गई हैं। कार्यक्रम को जिला विभाग की वेबसाइट तथा सोशल मीडिया साइट्स पर अपलोड किया जाएगा।
एनजीओ होंगे सम्मानित
आउट ऑफ स्कूल तथा ड्रॉप आउट बेटियों का दाखिला करवाने वाले बच्चों, व्यक्तियों, व्यक्ति समूहों तथा एनजीओे के लिए भी सरकार ने विशेष कार्यक्रम बनाया है। एनसीसी, एनएसएस, स्काउट, गाइड, टीचर, एनजीओ, सीएचजी पांच या पांच से अधिक बालिकाओं का दाखिला करवाता है, उसे भी स्वतंत्रता दिवस के मौके पर सम्मानित किया जाएगा।
बेटी बचाओ, बेटी पढ़ाओ अभियान के तहत सरकार ने निर्णय महत्वपूर्ण निर्णय
सभी जिला शिक्षा अधिकारियों को आदेश जारी, एसएमसी कमेटी करेगी चयन
-साल भर ब्रांड अंबेसडर बनेगी बेटियां, माता-पिता को मिलेगा खास सम्मान
हरियाणा सरकार का निर्णय बेहतरीन है। इस बार बेटियां ध्वजारोहण की रस्म अदा करेंगी। स्कूल मुखियों को इस संबंध में दिशा-निर्देश जारी कर दिए गए हैं।
-संत कुमार, बीईओ, डबवाली
प्रतिक्रियाएँ:

About Author

Advertisement

एक टिप्पणी भेजें