Dabwalinews.com Dabwalinews.com Author
Title: ट्राला की चपेट में आने से स्कूटर सवार महिला की मौत, एक घायल,
Author: Dabwalinews.com
Rating 5 of 5 Des:
#dabwalinews.com  युध्वीर रंगीला  शनिवार शाम करीब 6 बजे कबीर चौक पर गेहूं से भरे ट्राला ने स्कूटी चालक युवती को कुचल दिया। दर्दनाक हाद...
#dabwalinews.com 
युध्वीर रंगीला
 शनिवार शाम करीब 6 बजे कबीर चौक पर गेहूं से भरे ट्राला ने स्कूटी चालक युवती को कुचल दिया। दर्दनाक हादसे में युवती की मौका पर ही मौत हो गई। मृतका की पहचान 23 वर्षीय सुमन उपाध्याय निवासी वार्ड नं. 4, डबवाली के रूप में हुई है। जबकि उसका साथी गुर¨वद्र सिंह निवासी ब¨ठडा घायल हो गया। उसे उपचार के लिए नागरिक अस्पताल में ले जाया गया। सुमन उपाध्याय किसी से 70 हजार रुपये लेकर दिल्ली से वापस डबवाली लौट रही थी। रेलगाड़ी पर वह ब¨ठडा तक आई। ब¨ठडा के गांव जय सिंहवाला निवासी दर्शना देवी के भाई गुर¨वद्र के साथ स्कूटी पर डबवाली लौट रही थी। वह स्वयं स्कूटी चला रही थी। कबीर चौक पर सामने से आए ट्राला ने स्कूटी में टक्कर मारते हुए उसे कुचल दिया। चालक ट्राला को मौका पर ही छोड़कर फरार हो गया। जबकि सरकारी एंबुलेंस ने घायल गुर¨वद्र को अस्पताल पहुंचाया। मौका पर पहुंची शहर थाना पुलिस ने शव को अस्पताल पहुंचाया। ट्रक को कब्जे में करके चालक की तलाश शुरु कर दी है। बताया जा रहा है कि तीन दिन पहले ही मृतका को रामां मंडी (ब¨ठडा) स्थित एक धागा फेक्ट्री में काम मिला था।
एक साल से मायके में रह रही थी सुमन:
 करीब सात साल पहले सुमन की शादी डबवाली में ट्रक चालक के साथ हुई थी। मियां-बीवी में अनबन के कारण वह पिछले एक साल से रामबाग के सामने स्थित किराए पर रह रहे अपने पिता सर्वेश उपाध्याय तथा मां रेखा के साथ रह रही थी। उसके दो बच्चे हैं। बड़ी बेटी 5 साल की है, छोटा बेटा 4 साल का बताया जा रहा है। माता-पिता कबीर चौक के नजदीक ही रेहड़ी लगाकर गुजारा करते हैं।मां बोली- दामाद जो कहता था, वैसा ही हुआ मृतका की मां रेखा के अनुसार वे मूल रुप से बरेली के रहने वाले हैं। उसकी बेटी तथा दामाद में अनबन के कारण तलाक का केस चल रहा है। कुछ दिन पहले तारीख थी। बेटी ने बच्चे वापस मांगे तो दामाद ने कहा कि वह बच्चे वापस नहीं देगा। उसकी बेटी को ट्रक के नीचे कुचलकर मार देगा। उसका दामाद जो कहता था, उसकी बेटी के साथ वैसा ही हुआ। पीड़ित परिवार ने पुलिस से मामले की जांच करने की मांग की है।सुमन रेलवे गुड्स साइड की भेंट चढ़ गई। चूंकि गेहूं लोडिड ट्राला रेलवे गुड्स साइड पर जा रहा था। पिछले दिनों लोगों ने गुड्स साइड को शहर से बाहर करने के लिए आंदोलन किया था। लोगों ने विभिन्न राजनीतिक दलों के नेताओं तथा रेलवे अधिकारियों को ज्ञापन सौंपे हैं। ताकि रेलवे गुड्स साइड को शहर से बाहर किया जा सकें। प्रत्यक्षदर्शियों के अनुसार गेहूं लोडिड वाहन स्पीड में रेलवे गुड्स साइड की ओर जाते हैं।
प्रतिक्रियाएँ:

About Author

Advertisement

एक टिप्पणी भेजें