Dabwalinews.com Dabwalinews.com Author
Title: ब्रश करने और शोरायुक्त पानी पीने से खराब हो रहे बच्चों के दांत
Author: Dabwalinews.com
Rating 5 of 5 Des:
स्वास्थ्य जागरूकता के अभाव में शहर की स्लम बस्तियों में रह रहे अधिकतर बच्चों के दांत खराब हो रहे हैं। पब्लिक क्लब के नजदीक स्थित ...


स्वास्थ्य जागरूकता के अभाव में शहर की स्लम बस्तियों में रह रहे अधिकतर बच्चों के दांत खराब हो रहे हैं। पब्लिक क्लब के नजदीक स्थित राजकीय प्राइमरी स्कूल न. 1 में गुरुवार को आयोजित दंत जांच शिविर में यह बात सामने आई। स्कूल में पढ़ रहे करीब 300 बच्चों की जांच में पाया गया कि 80 प्रतिशत से भी अधिक बच्चों के दांतों में कीड़े लगे हैं अथवा अन्य इन्फेक्शन है। स्कूल में पब्लिक क्लब के पीछे स्थित क्षेत्र, कबीर बस्ती, इंदिरा नगर, सुंदर नगर शहर की अन्य बाहरी कॉलोनियों के बच्चे पढ़ने आते हैं। गुरुवार काे लायंस क्लब आस्था द्वारा प्राइमरी स्कूल में लगाए दंत जांच शिविर में दंत रोग विशेषज्ञ डाॅ. दीपिका जिंदल ने जब प्रथम कक्षा से 5वीं कक्षा तक के बच्चों के दांतों की जांच की तो अधिकतर बच्चे दांत खराब मिले। करीब 300 बच्चों में से 250 बच्चों के दांतों में सड़न अन्य प्रकार की शिकायतें मिली। इन बच्चों ने बताया कि उन्हें टुथपेस्ट ब्रश कभी नहीं किया। आस्था क्लब की ओर से बच्चों को टूथ पेस्ट ब्रश निशुल्क दिए। घरों में ही नहीं बल्कि राजकीय प्राइमरी स्कूल न. 1 में पढ़ने वाले बच्चे स्कूल में भी शोरायुक्त जमीनी पानी ही पी रहे हैं। पेयजल के लिए स्कूल में सबमर्सिबल पंप लगाया गया है जिसकी सहायता से ही जमीनी पानी स्कूल के वाटर टेंक भरा जाता है। पानी में शोरे की जांच करवाए बिना ही उन्हें यह पानी पिलाया जा रहा है। स्कूल की कार्यकारी इंचार्ज रेखा बिढलान ने बताया कि जलघर के पानी का कोई कनेक्शन स्कूल में नहीं लगा है। इसलिए मजबूरी में टेंक में यही पानी भरना पड़ता है।
वहीं दंत चिकित्सक डॉ दीपिका का कहना है कि बच्चे नियमित रूप से दांतों की सफाई नहीं करते इसलिए उनके दांतों में कीड़े लगे हुए मिले। शोरायुक्त पानी पीने से दांत खराब हुए हैं।
डबवाली। बच्चों के दांतों की जांच करती डाॅ. दीपिका जिंदल।
प्रतिक्रियाएँ:

About Author

Advertisement

एक टिप्पणी भेजें