BREAKING NEWS

Post Top Ad

Your Ad Spot
�� Dabwali न्यूज़ है आपका अपना, और आप ही हैं इसके पत्रकार अपने आस पास के क्षेत्र की गतिविधियों की �� वीडियो, ✒️ न्यूज़ या अपना विज्ञापन ईमेल करें dblnews07@gmail.com पर अथवा सम्पर्क करें मोबाइल नम्बर �� 9354500786 पर

शुक्रवार, अप्रैल 12, 2019

घोषणा पत्र में जो वायदे पार्टियां करती हैं वह लागू हो वार्ना चुनाव आयोग पार्टियों की मान्यता रद्द करने जैसा कदम उठाए

डबवाली न्यूज़
नईं अनाज मंडी में आढ़तियों की हड़ताल व धरना शुक्रवार को तीसरे दिन भी जारी रही। आढ़तियों ने दुकानें बंद रखकर कामकाज ठप रखा व मंडी के ए-ब्लॉक में बने मंच पर धरना देकर सरकार के खिलाफ नारेबाजी की।

इस दौरान कांग्रेस नेता डा. केवी सिंह, कुलदीप गदराना, इनेलो नेता डा. सीता राम, विनोद अरोड़ा, महेंद्र डुडी, जेजेपी नेता जगरूप सिंह,युवा जेजेपी प्रधान विपिन मोंगा, किसान नेता जसवीर सिंह भाटी, मिठ्ठु कंबोज, वेद प्रकाश डांगी, नंदीशाला के युवा प्रधान राजेश जैन व अन्य प्रतिनिधियों ने मंडी में पहुंचकर आढ़तियों को समर्थन दिया व धरने में शामिल हुए। इस अवसर पर संबोधन के दौरान डा. केवी सिंह ने कहा कि राजनीतिक पार्टियां अपने घोषणा पत्र में जो वायदे करती हैं उसे जीतने के बाद लागू करना जरूरी करना चाहिए। अन्यथा चुनाव आयोग को उन पार्टियों की मान्यता रद्द करने जैसा कदम उठाना चाहिए। सुषमा स्वराज ने संसद में विपक्ष में होते हुए अपने अभिभाषण में कहा था कि आढ़तियों व किसानों का रिश्ता कायम रहना चाहिए। आज वहीं लोग सरकार बनने के आढ़तियों व किसानों के रिश्ते को खत्म करने पर आमादा हैं। किसान संगठन के प्रधान जसवीर सिंह भाटी ने कहा कि किसान और आढ़ती का रिश्ता नाखून-मांस की तरह है जोकि सदियों से चला आ रहा है। ऐसे में किसानों का पूरा समर्थन आढ़तियों के साथ है। उन्होंने ई-ट्रेडिंग प्रणाली का भी विरोध किया व इसकी कमिया गिनवाई। पूर्व विधायक डा. सीता राम, कुलदीप गदराना, मिठ्ठु कंबोज, राजेश जैन काला आदि ने भी विचार रखे और आढ़तियों को समर्थन देने का ऐलान किया।
बाद में कच्चा आढ़तिया एसोसिएशन के प्रधान गुरदीप कामरा ने सभी का धन्यवाद करते हुए कहा कि
कहा कि आढ़ती व किसान का रिश्ता खराब नहीं होने दिया जाएगा। यदि सरकार नहीं मानी तो 15 अप्रैल को करनाल की अनाज मंडी में एक विशाल रैली का आयोजन किया जाएगा। इसमें व्यापारी विरोधी भाजपा सरकार के खिलाफ आगामी रणनीति का ऐलान किया जाएगा। वहीं, मजदूर यूनियन ने भी प्रधान दीपक बागड़ी के नेतृत्व में मंडी में सरकार के खिलाफ रोष प्रदर्शन किया।
इस मौके पर एसोसिएशन के उपप्रधान विकास बांसल, सचिव राजेश जिन्दल, सुरेन्द्र गर्ग, टेक चंद छाबडा, तरसेम जिन्दल, हरबिलास निरंकारी, साहिल मेहता, विनोद जिन्दल, सतपाल गर्ग, हनुमान गर्ग, प्रेम प्रकाश गोयल, पंकज मेहता, सोहन लाल, विकास, अमनदीप, सुरेन्द्र ग्रोवर, धीनेश टींकू, विजय वर्मा, प्रशांत
गर्ग, विजय कम्बोज, नरेन्द्र कम्बो, कनेडी अजनीश धारनीया, मंगत बांसल गंगा, शुभम लूना, राजेंद्र चावला, इन्दरप्रीत सिह मोंगा, ओमप्रकाश मेहता, जसकरण सिह सरां, रोहित झालरिया, किक्की मिढ्ढा, रजनीश ग्रोवर, संदीप फौजी, ओम प्रकाश गर्ग, संजय जैन, सतभुषण खुराना, टीकम जग्गा, सुरेन्द्र भोला जोगेवाला, संत लाल वर्मा, नीतीन सेठी, अभिषेक बिश्नोई, जीवन व अन्य आढ़ती मौजूद थे।

कोई टिप्पणी नहीं:

Post Top Ad

पेज