BREAKING NEWS

Post Top Ad

Your Ad Spot
�� Dabwali न्यूज़ है आपका अपना, और आप ही हैं इसके पत्रकार अपने आस पास के क्षेत्र की गतिविधियों की �� वीडियो, ✒️ न्यूज़ या अपना विज्ञापन ईमेल करें dblnews07@gmail.com पर अथवा सम्पर्क करें मोबाइल नम्बर �� 9354500786 पर

मोबाइल पर समाचार सुने के लिए कृपया निचे दिया काले रंग के स्पीकर को दबाएं

शनिवार, अक्तूबर 03, 2020

बदले हालात में बढ़ा कांडा का कद ,चुनावी हवा का रूख बदलने में हासिल है महारत, संकटमोचक के रूप में डटे है सीएम संग

डबवाली न्यूज़ डेस्क (इंदरजीत अधिकारी की कलम से )
प्रदेश के ताजा राजनीतिक हालात में सिरसा के विधायक एवं पूर्व गृहराज्यमंत्री गोपाल कांडा का राजनीतिक वजूद बढ़ा है।भाजपा सरकार को एक समय में कई मोर्चों पर लडऩा पड़ रहा है। केंद्र द्वारा लाए गए तीन अध्यादेशों का चौतरफा विरोध हो रहा है। विपक्षी पार्टियों द्वारा इसे मुद्दा बनाकर सरकार पर वार किए जा रहे है। भाजपा के बागी भी इसमें अंदरखाते जुटे हुए है। उधर, मनोहर सरकार में शामिल जजपा पर भी समर्थन वापसी का दबाव बना हुआ है। जबकि आगामी 3 नवंबर को बरोदा विधानसभा सीट पर उपचुनाव होना है। ऐसे में मनोहर सरकार चारों ओर से घिरी है। ऐसे हालात में हलोपा सुप्रीमो गोपाल कांडा संकटमोचक के रूप में सीएम के साथ खड़े दिखाई दे रहे है। हुड्डा-2 सरकार के गठन में अपनी चमत्कारिक प्रतिभा का प्रदर्शन करने वाले गोपाल कांडा ने इस बार सीएम मनोहर लाल को मजबूती प्रदान करने का काम किया है। उन्होंने विधानसभा चुनाव जीतते ही बिना शर्त भाजपा को समर्थन देने का ऐलान किया था और प्रदेश में राजनीतिक अस्थिरता के हालात ही पैदा नहीं होने दिए। हालांकि जजपा के सहयोग से भाजपा ने सरकार का गठन किया। मगर, गोपाल कांडा हमेशा सीएम मनोहर लाल के टच में ही रहें और उन्होंने हर प्रकार से सहयोग देने का विश्वास जताया। कृषि संबंधी विधेयकों के बाद प्रदेश के राजनीतिक हालात में बदलाव आया है। चूंकि केंद्र में एनडीए की सहयोगी रहे अकाली दल ने 22 साल पुराना नाता तोड़ दिया, ऐसे में जजपा पर भी भाजपा सरकार से समर्थन वापस लेने का दबाव बना है। 
ऐसे हालात में सिरसा के विधायक गोपाल कांडा की सीएम मनोहर लाल के साथ नजदीकियां बढ़ी है। सीएम भी उन्हें प्राथमिकता दे रहे है, जिसकी वजह से सिरसा के विकास के लिए ग्रांट में किसी प्रकार की कमी नहीं रखी जा रहीं। श्री कांडा के आग्रह पर ही सिरसा में मेडिकल कालेज की स्थापना की घोषणा की गई, जिसे अमलीजामा पहनाए जाने की दिशा में कार्य किया जा रहा है। दरअसल, राजनीति के जानकार बताते है कि गोपाल कांडा को चुनावी हवा का रूख मोडऩे की महारत हासिल है। सीएम ने अपनी दूरदर्शी सोच का परिचय देते हुए कांडा को तवज्जो दी है, चूंकि गोपाल कांडा न केवल सिरसा जिला बल्कि पंजाब से सटे एरिया में खासी पकड़ रखते है। वे सिरसा से दूसरी बार विधायक चुने गए है, जबकि रतिया उपचुनाव के दौरान उन्होंने अपनी 'बाजीगरीÓ से राजनीति के पंडितों को भी चौंका दिया था। ऐसे में कांडा का साथ पाकर मनोहर सरकार हर मोर्चे पर बेफ्रिक होकर डटी हुई है।

कोई टिप्पणी नहीं:

AD

पेज