BREAKING NEWS

Post Top Ad

Your Ad Spot
�� Dabwali न्यूज़ है आपका अपना, और आप ही हैं इसके पत्रकार अपने आस पास के क्षेत्र की गतिविधियों की �� वीडियो, ✒️ न्यूज़ या अपना विज्ञापन ईमेल करें dblnews07@gmail.com पर अथवा सम्पर्क करें मोबाइल नम्बर �� 9354500786 पर

मोबाइल पर समाचार सुने के लिए कृपया निचे दिया काले रंग के स्पीकर को दबाएं

रविवार, जनवरी 24, 2021

तथाकथित समाजसेवियों को सता रहा गिरफ्तारी का डर , पुलिस से बचने के लिए बदल रहे ठिकाने, करोड़ों रुपये की ठगी मामले में पुलिस कर रही तलाश

Dabwalinews.com
समय का फेर है। एक समय सिरसा में समाजसेवी बनकर हवा से बात करने वाले आज पुलिस से बचने के लिए ठिकाने बदल रहे है।हर समय पुलिस द्वारा धर दबोचने का डर सता रहा है। करोड़ों रुपये की ठगी के मामले में पंजाब पुलिस ने उन्हें तलाश रही है। पुलिस कई बार सिरसा में रेड भी कर चुकी है। पिछले एक पखवाड़े से तो तथाकथित समाजसेवी अपने आवास पर भी रात्रि विश्राम नहीं कर रहें कि कहीं पुलिस घर से आकर दबोच न लें। ये हालात बनी हुई है अग्रवाल सभा सिरसा के पूर्व प्रधान मनोज गोल्याण और सिरसा क्लब के उपप्रधान सुरेश शर्मा की। एक समय दोनों की तूती बोलती थी। सूत्र बताते है कि आज दोनों ही गिरफ्तारी के भय से पुलिस से छिपते फिर रहे है। अबोहर पुलिस ने अन्य आरोपियों के साथ-साथ मनोज गोल्याण व सुरेश शर्मा के खिलाफ 2.40 करोड़ रुपये डकारने के आरोप में धारा 420, 465, 467, 468, 471, 384, 120बी के तहत मामला किया हुआ है। अबोहर पुलिस ने 9 जुलाई 2020 में धोखाधड़ी व गबन के आरोप में आशा रानी पत्नी सतपाल ठठई की शिकायत पर दस लोगों के खिलाफ मामला दर्ज किया था। शिकायतकत्र्ता आशारानी ने पुलिस में दी अपनी शिकायत में बताया कि उसके पुत्र नीरज अरोड़ा द्वारा संचालित नेचर हाईट्स इन्फ्रा. लिमिटेड के डायरेक्टर गौरव छाबड़ा के माध्यम से मैसर्ज गैलेक्सी इम्ब्र्राइडरी प्रा. लिमिटेड के संचालक सुरेश कुमार व मनोज कुमार ने अपनी मलकीयत वाली 7 एकड़ कृषि भूमि का सौदा 90 लाख रुपये प्रति एकड़ के हिसाब से किया था। जिसकी एवज में उन्हें 90 लाख रुपये बैंक से ट्रांसफर करके तथा डेढ़ करोड़ रुपये नगद दिए थे। शिकायतकत्र्ता ने आरोप लगाया कि सुरेश कुमार व मनोज कुमार ने सौदा तो नेचर हाईट्स से किया और बदले में सांई भी ली। लेकिन वसूली गई रकम लौटाए बगैर 2 जुलाई 2016 को उक्त जमीन जीटी डिवलेपमेंट प्रा. लि. वजीरपुर (दिल्ली) को बेच दीं।

आशा रानी ने आरोप लगाया कि करोड़ों के इस सौदे में षड्यंत्र रचकर धोखाधड़ी की गई, जिसमें प्रोपर्टी डीलर व अन्य ने मिलकर धोखाधड़ी की। मामले में अबोहर सिटी-वन पुलिस ने शिव लाल डौडा (शौली), उसकी पत्नी सुनीता डोडा, पुत्रवधु डा. सुहानी डोडा (पत्नी गगन डोडा) निवासी अबोहर, सुरेश शर्मा पुत्र हजारी राम शर्मा गली बावड़ी वाली नोहरिया बाजार निवासी सिरसा, मनोज गोल्याण पुत्र बाबूराम निवासी गली पारखांवाली नोहरिया बाजार सिरसा, राकेश कुमार पुत्र जगत प्रकाश बड़ी मस्जिद वाली गली नजदीक सुभाष चौक सिरसा, रिद्धि-सिद्धी कालोनी के डिवलेपर राजीव चुघ पुत्र सतनाम दास निवासी अबोहर, प्रोपर्टी डीलर सुरेंद्र घीक निवासी अबोहर, बिल्ला कुक्कड़ निवासी अबोहर, राजीव रतन धींगड़ा भोला निवासी अबोहर के खिलाफ भारतीय दंड संहिता की धारा 420, 465, 467, 468, 471, 384, 120बी के तहत मामला दर्ज किया था। 
दबिश बनीं सिरदर्द
अबोहर पुलिस द्वारा मामले में लगातार आरोपियों की धरपकड़ के लिए दबिश दी जा रही है। हर समय गिरफ्तारी का डर बना रहता है, जिसके कारण चैन से घर पर सो भी नहीं सकते। पंजाब पुलिस द्वारा मामले को सिरे चढ़ाने के लिए गिरफ्तारी के प्रयास भी किए जा रहे है। जिसके कारण आरोपियों में बेचैनी बनी हुई है। सोसायटी में भद्द भी पीट रही है। मगर, बेबसी है। अल्प समय में जुटाई गई अकूत संपत्ति भी कोई काम नहीं आ पा रही। प्रभावित करने के प्रयास भी सिरे नहीं चढ़ पा रहें। कोशिशों का दौर भी जारी है लेकिन दूर-दूर तक कोई हल भी दिखाई नहीं दे रहा। 

कोई टिप्पणी नहीं:

AD

पेज