?? Dabwali ????? ?? ???? ????, ?? ?? ?? ??? ???? ??????? ???? ?? ??? ?? ??????? ?? ?????????? ?? ?? ??????, ?? ????? ?? ???? ???????? ???? ???? dblnews07@gmail.com ?? ???? ??????? ???? ?????? ????? ????? ?? ????? ?????????? ?? ???? ???? ??? ?? ???? ?????? ????? ???? ????? ??? ?? 9416682080 ?? ???-??, ????-?? ?? ?????? ?? ???? ??? 9354500786 ??

Trending

3/recent/ticker-posts

Labels

Categories

Tags

Most Popular

Secondary Menu
recent
Breaking news

Featured

Haryana

Dabwali

Dabwali

health

[health][bsummary]

sports

[sports][bigposts]

entertainment

[entertainment][twocolumns]

किसानों पर दर्ज केस भी वापिस करवायेंगे दुष्यंत चौटाला- रणदीप मट्टदादु

Dabwalinews.com
डबवाली।गुरु नानक देव जी के पावन प्रकाश पर्व पर तीन नए कृषि कानूनों को वापस लेने का प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का फैसला किसानों के संघर्ष की जीत है।क्योकि किसानों के लंबे संघर्ष को देखते हुए उन्होंने यह सराहनीय निर्णय लिया है। जेजेपी प्रवक्ता रणदीप सिंह मटदादू ने तीन नए कृषि कानूनों को वापस लेने के फैसले का स्वागत करते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के अलावा हरियाणा के उपमुख्यमंत्री दुष्यंत चौटाला का आभार व्यक्त किया है , जो लगातार इन कानूनों को रद्द करवाने के लिए केंद्रीय नेताओं से संपर्क साधे हुए थे। मटदादू ने कहा कि गुरु के प्रकाशोत्सव का यह पावन दिन एक ऐतिहासिक दिन बनकर आया जब एक लम्बे संघर्ष का अंत हुआ और धरतीपुत्रों की जीत हुई।उन्होंने कहा कि दुष्यंत चौटाला हमेशा से ही किसानों के सच्चे हितेषी रहे है और उनके हितों की रक्षा के लिए सदा ही प्रयासरत है , अभी भी वह किसानों के हित हेतु आंदोलन के दौरान हरियाणा, पंजाब, दिल्ली में दर्ज मामलों को वापस लेने के लिए वे केंद्र सरकार से बातचीत करेंगे। उन्होंने कहा कि उपमुख्यमंत्री दुष्यंत चौटाला ने कहा है कि आंदोलन के दौरान लोगों पर दर्ज हुए केस, इनमें जो गैर घातक गतिविधि के मामले है, उन्हें वापस करवाने का प्रयास रहेगा और उन्होंने कहा है कि पंजाब, हरियाणा, दिल्ली में दर्ज जो मामले ज्यादा संगीन नहीं है, उन्हें वापस लिया जाने चाहिए और जो मामले ज्यादा संगीन है उन पर कोर्ट फैसला करें और वे इसके लिए केंद्र से बातचीत करेंगे। रणदीप मटदादू ने कहा कि प्रकाश पर्व पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने किसानों के लंबे संघर्ष को देखते हुए सराहनीय निर्णय लिया है और यह किसानों के संघर्ष की जीत है। उन्होंने उम्मीद जताई है की कि केंद्र सरकार कृषि क्षेत्र से जुड़ी अन्य समस्याओं को भी दूर करके किसानी को और बेहतर, फायदेमंद बनाने की दिशा में कार्य करेगी। उन्होंने बताया कि उपमुख्यमंत्री दुष्यंत चौटाला ने कहा कि किसानों का यह संघर्ष इसलिए भी लंबा चला क्योंकि कानूनों के लाभ के बारे अच्छे से प्रचार नहीं हो पाया और इसकी वजह से इन नये कानूनों की छवि कठोर कानून के रूप में बन गई। दुष्यंत चौटाला ने कहा कि यह बात स्वयं प्रधानमंत्री ने मानी कि कानूनों को लेकर समझाने में कमी रही और इसके लिए उन्होंने माफी भी मांगी, जो कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के बड़प्पन को दिखाता हैं। उन्होंने कहा कि उपमुख्यमंत्री दुष्यंत चौटाला ने यह भी कहा है कि किसानों के लिए एमएसपी सुनिश्चित करने में हरियाणा प्रदेश देश में सबसे आगे है। उन्होंने कहा कि हरियाणा में 13 फसलों की निर्धारित एमएसपी पर खरीद होती है। भावांतर भरपाई योजना के तहत 17 बागवानी फसलों के नुकसान की भरपाई हरियाणा सरकार करती है। वहीं बाजरे की फसल को लेकर अन्य किसी भी राज्य ने अतिरिक्त पैसा किसानों को नहीं दिया जबकि हरियाणा में प्रदेश सरकार ने 600 रुपए प्रति क्विंटल के हिसाब से भावांतर भरपाई योजना के तहत किसानों को पैसा दिया और फसल बेचने से पहले किसानों को उसका लाभ पहुंचाया। उन्होंने जेजेपी के कार्यकर्ताओं की और से भी केंद्र व उपमुख्यमंत्री दुष्यंत चौटाला के अलावा सरकार के शीर्ष नेताओं का आभार व्यक्त किया है।
Source Link - Dushyant Chautala will also get back the cases filed against farmers- Randeep Mattadadu


No comments: