BREAKING NEWS

Post Top Ad

Your Ad Spot
�� Dabwali न्यूज़ है आपका अपना, और आप ही हैं इसके पत्रकार अपने आस पास के क्षेत्र की गतिविधियों की �� वीडियो, ✒️ न्यूज़ या अपना विज्ञापन ईमेल करें dblnews07@gmail.com पर अथवा सम्पर्क करें मोबाइल नम्बर �� 9354500786 पर

बुधवार, दिसंबर 25, 2019

मिलेनियम स्कूल में बड़ी ही धूमधाम से मनाया गया क्रिसमस का पर्व

मिलेनियम स्कूल के प्रांगण में क्रिसमस का प्रोग्राम  बड़े ही धूमधाम व हर्षोल्लास के साथ मनाया गया
क्रिसमस ईसाइयों का सबसे बड़ा त्यौहार है लेकिन भारत देश में विभिन्नता में एकता का प्रतीक है।इस देश में सभी धर्मो के लोग रहते है तथा धर्मनिरपेक्षता का पालन कर रहे है 25 दिसम्बर के दिन जीसस यानि इसा मसीह का जन्म हुआ था और इसलिए यह दिन मैरी क्रिसमिस के रूप में मनाया जाता है 25 दिसम्बर से ईसाइयो का बड़ा दिन शुरू होता है ।समारोह का शुभारभ भंकित गीत से हुआ ।समारोह में स्कूल के नन्हे मुन्हे बच्चे सांता की पोशाक में बहुत प्यारे लग रहे थे।पंच पर क्रिसमिस ट्री की सजावट व सुन्दरता सभी को अपनी और आकर्षित कर रही थी ।आठवी कक्षा के बच्चों द्वारा पेश किया गया "जुगनी " डांस ने सबका मन मोह लिया ।इस अवसर पर दूसरी कक्षा के बच्चों ने जिंगल बेल- जिंगल बेल पर सुंदर पेशकश की। स्कूल की अध्यक्ष डा.शर्मा ने क्रिसमिस की बधाईया देते हुए प्रभु येशु के उपदेशो पर चलने की शिक्षा देते हुए कहा की प्रभु ने कोई धर्म,मजहब,जाति-पाति, समुदाय नहीं बनाये है। इन्सान ने स्वंय ही हिन्दू- मुस्लिम सिख-ईसाई में बाँट लिया है प्रभु तो केवल प्रेम की भाषा मिल बर्तन सहयोग दया करुणा के भाव ही अच्छे लगते हैं डॉक्टर शर्मा ने बच्चों को प्रभु यीशु के विषय में विस्तार से बताया और कहा कि प्रभु तो हर युग में इंसान को प्यार एकता शांति और भाईचारे का ही संदेश देते हैं प्रभु येशु ने मानवता की सेवा दीन दुखियों की सहायता करने में बड़े बुजुर्गों का सम्मान करने की प्रेरणा दी थी हमें भी उनके बताए रास्ते पर चलना होगा तभी ऐसे बनाने का सही अर्थ निकलेगाl डॉक्टर शर्मा के भाषण के बाद कक्षा पांचवी के बच्चों ने अपनी पेशकश से सभी का मन मोह लिया और वाहवाही बटोरी इस अवसर पर मिलेनियम स्कूल के सभी बच्चों को अपनी प्रतिभा दिखाने का अवसर मिला क्योंकि स्कूल के प्रबंधकों का मानना है कि शिक्षा के साथ-साथ बच्चों में छिपी हुई प्रतिभा खोज ना ही शिक्षा का मुख्य उद्देश्य है समारोह के अंत में बच्चों को टॉफिया बांटी गई संता की पोशाक में आए बच्चों एक दूसरे को मैरी क्रिसमस कह रहे थे तथा टॉफी चॉकलेट बांट रहे थे

कोई टिप्पणी नहीं:

Post Top Ad

पेज