BREAKING NEWS

Post Top Ad

Your Ad Spot
�� Dabwali न्यूज़ है आपका अपना, और आप ही हैं इसके पत्रकार अपने आस पास के क्षेत्र की गतिविधियों की �� वीडियो, ✒️ न्यूज़ या अपना विज्ञापन ईमेल करें dblnews07@gmail.com पर अथवा सम्पर्क करें मोबाइल नम्बर ��अगर आप हमारी पत्रकारिता को पसंद करते हैं और हमें आर्थिक सहयोग करना चाहते हैं तो 9416682080 पर फोन-पे, गुगल-पे या पेटीएम कर सकते हैं 9354500786 पर

मोबाइल पर समाचार सुने के लिए कृपया निचे दिया काले रंग के स्पीकर को दबाएं

सोमवार, मई 10, 2021

टूटती सांसों को बचाने के लिए कांडा बंधुओं ने 10 दिन में खड़ा किया कोविड अस्पताल,कोरोनाकाल में दानवीर 'कर्णÓ की भांति खोला खजाने का मुंह

Dabwalinews.com
कोरोना महामारी के दौर में जब अनेक लोग कालाबाजारी व अन्य स्त्रातों से अपनी तिजोरी भरने में जुटे हुए है, वहीं सिरसा के विधायक गोपाल कांडा और उनके अनुज गोबिंद कांडा ने मानवता की भलाई के लिए ऐसा कार्य कर डाला है, जिसे इतिहास के पन्नों में दर्ज किया जाएगा।कोरोना की वजह से जब मरीजों की सांसों पर बन आई, जब उन्हें अस्पतालों में बैड उपलब्ध नहीं हो रहा था, जब आक्सीजन की कमी के कारण सांसें टूटती दिखाई पड़ रही थी। ऐसी विकट परिस्थिति में कोरोना मरीजों के जीवनरक्षा के लिए कांडा बंधुओं ने अपनी तिजोरी के मुंह खोल दिए। मात्र 10 दिन में कोविड अस्पताल खड़ा कर दिया, जिसकी सेवाएं मरीजों को मिल पाएंगी।अग्र समाज के 'मुकुटमणीÓ कहलाए जाने वाले गोपाल कांडा ने अपने निजी कोष से आक्सीजन कंसीटे्रटर का विदेशों से आयात किया। जिनके लिए लगभग एक करोड़ रुपये खर्च किया गया है। एकमात्र लक्ष्य कि आक्सीजन के अभाव में किसी की सांस न टूटें। इसके साथ ही कांडा बंधुओं ने कोरोना मरीजों को राहत प्रदान करने के लिए कोविड अस्पताल शुरू करने का निर्णय लिया और उस पर युद्ध स्तर पर कार्य आरंभ हुआ। अब यह अस्पताल तैयार हो चुका है। अनुभवी चिकित्सक, पैरा मेडिकल स्टॉफ व अन्य संसाधन जुटाए जा चुके है। महानगरों में स्थित अति आधुनिक चिकित्सा उपकरणों से सुसज्जित अस्पताल की सेवाएं सिरसावासियों को मिल पाएंगी।गोपाल कांडा व उनके अनुज गोबिंद कांडा ने एक बार फिर यह साबित कर दिया कि राजनीति उनके लिए समाजसेवा का माध्यम है। वे राजनीति के माध्यम से कमाने नहीं बल्कि लोगों की सेवा करने के लिए आए है। वर्तमान दौर में जब लोग कदम पीछे कर रहे है, तब कांडा बंधुओं की ओर से कोरोना मरीजों के लिए मदद के हाथ बढ़ाए गए है। कांडा बंधुओं के प्रयासों का परिणाम भी देखने को मिलने लगा है। प्राइवेट अस्पतालों ने अपने बैड चार्ज में भी भारी कटौती कर दी है। इसके साथ ही बैड को लेकर मारामारी की स्थिति भी समाप्त हो चुकी है। आक्सीजन को लेकर जो कालाबाजारी की स्थिति बनी हुई थी, उस पर भी लगाम लग चुका है। कांडा बंधुओं की ओर से जिस प्रकार आक्सीजन की कमी न आने देने का दावा किया जा रहा है, उससे यह कयास लगाए जा रहे है कि उनकी ओर से संभवत: कोविड अस्पताल में अपना आक्सीजन प्लांट लगाया जा सकता है।
कांडा बंधुओं ने ऐसा पहली बार नहीं किया। पिछले वर्ष भी कोरोना के विपदा काल में कांडा बंधुओं ने जरूरतमंदों की हरसंभव मदद की। श्री बाबा तारा कुटिया में रोजाना 20 हजार लोगों के लिए सुबह-शाम भोजन के पैकेट तैयार करवाए गए और स्वयंसेवकों के माध्यम से उनका जरूरतमंद परिवारों तक वितरण करवाया गया। जरूरतमंदों को दवाईयां, मास्क, सैनेटाइजर व अन्य सामान पहुंचाया। बेसहारा गौवंश के लिए लॉकडाऊन अवधि में चारे की व्यवस्था की। आवारा कुत्तों व बिल्लियों की भी सुध ली और उनके लिए दूध और बिस्कुट की व्यवस्था की। यानि कांडा बंधुओं ने हरेक प्राणी का ख्याल रखा। उनका अनुसरण करते हुए कई अन्य संस्थाओं ने भी नेकी का कार्य किया। कांडा बंधुओं ने नेकी का कार्य केवल कोरोनाकाल में ही नहीं किया, बल्कि यह उनके जीवनचर्या का अंग है। कांडा बंधुओं की ओर से नेत्र अस्पताल का संचालन किया जा रहा है, जिसमें हजारों लोगों के आपरेशन करके उन्हें नेत्र ज्योति प्रदान की जा चुकी है। कांडा परिवार की ओर से गरीब कन्याओं का सामूहिक विवाह आयोजित किया जाता है, जिसमें स्त्रीधन उनकी ओर से भेंट किया जाता है। इसके अलावा जरूरतमंदों को व्हीलचेयर, कृत्रिम अंग इत्यादि भी भेंट किए जाते है। सर्दियों में गर्म कंबल, जर्सियां इत्यादि भी वितरित करके मानवसेवा का परिचय दिया जाता है।कांडा बंधुओं ने अपने नेककार्य से आमजन का दिल जीतने का कार्य किया है। उन्होंने यह भी साबित कर दिया कि उनकी सेवा में कोई स्वार्थ नहीं। वे राजनीति के माध्यम से तिजोरी भरने नहीं बल्कि जनसेवा के लिए आए है। बाबा तारा के परम भक्त गोपाल कांडा के मानवसेवा के कार्यों के कारण ही लोग उन्हें प्यार से दानवीर कर्ण भी पुकारते है।
आवश्यक वस्तुओं की दुकानें खुलने का समय निर्धारित, नियमों की पालना करें दुकानदार : उपायुक्त प्रदीप कुमार
https://www.dabwalinews.com/2021/05/dbl_10.html

सीएम करेंगे कोविड अस्पताल का उद्घाटन
कांडा बंधुओं की ओर से हिसार रोड पर तैयार किए गए कोविड केयर सेंटर का मंगलवार को मुख्यमंत्री मनोहर लाल ऑनलाइन उद्घाटन करेंगे। इस अस्पताल के शुरू होने से सिरसा जिला के कोरोना मरीजों को नया जीवन मिलने की आस जगी है। इस अस्पताल में कांडा बंधुओं की ओर से तमाम अति आधुनिक चिकित्सीय उपकरण उपलब्ध करवाए गए है। आक्सीजन सिलेंडरों के अलावा आक्सीजन कंसट्रेटर भी मुहैया करवाए गए है। विशेषज्ञ चिकित्सकों की टीम सेंटर के निदेशक डा.रितेश शर्मा की देखरेख में मरीजों की सेवा करेगी।
 जनसेवा हमारा धर्म : गोपाल कांडा
सिरसा के विधायक एवं पूर्व गृहराज्यमंत्री गोपाल कांडा ने कहा कि जनसेवा करना उनके परिवार का धर्म है। विपदा की इस घड़ी में कांडा परिवार सिरसा की जनता के साथ है और हरसंभव मदद के लिए तैयार है। उन्होंने कहा कि वर्तमान हालात इतने विकट बने हुए थे कि अस्पतालों में बैड तक उपलब्ध नहीं था। ऐसे में ईलाज के अभाव में कोई परेशान न हों, इसलिए अल्प समय में कोविड अस्पताल तैयार करवाया गया है। उन्होंने भरोसा दिलाया कि अब किसी को भयभीत होने की जरूरत नहीं है। पीड़ा की इस घड़ी में कांडा परिवार जरूरतमंदों के साथ खड़ा है।
बाबा से मिलती है सेवा की प्रेरणा : गोबिंद कांडा

 दस दिनों की अल्प अवधि में 150 बैड क्षमता का कोविड अस्पताल खड़ा करने के लिए दिन-रात देखरेख में जुटे गोबिंद कांडा ने कहा कि जनसेवा की प्रेरणा उन्हें श्री बाबा तारा से मिलती है। उन्हीं के आशीर्वाद और प्रेरणा से सेवा कार्य के लिए ऊर्जा हासिल होती है। उन्होंने कहा कि बाबा तारा की कृपा सभी पर बनीं रहें और सभी कोरोना पीडि़त स्वस्थ हों।
यह नेकी का कार्य : डा. रितेश

कोविड केयर अस्पताल के संचालक डा. रितेश शर्मा ने कहा कि विपदा की इस घड़ी में अस्पताल का संचालन किया जाना ही सबसे बड़ी मानवसेवा है। जिस समय मरीजों को बैड उपलब्ध न हो पा रहा हो, आक्सीजन की कमी झेलनी पड़ रही हो। ऐसे वक्त में गोपाल और गोबिंद का मदद के लिए बढ़ाया गया हाथ कोरोना मरीजों को नया जीवन प्रदान करेगा। वर्णनीय है कि इस अस्पताल का उपायुक्त प्रदीप कुमार, एसडीएम जयबीर सिंह यादव और सिविज सर्जन डा.मनीष बांसल निरीक्षण कर चुके है और कांडा बंधुओं के प्रयासों को सराह चुके है।

कोई टिप्पणी नहीं:

AD

पेज