BREAKING NEWS

Post Top Ad

Your Ad Spot
�� Dabwali न्यूज़ है आपका अपना, और आप ही हैं इसके पत्रकार अपने आस पास के क्षेत्र की गतिविधियों की �� वीडियो, ✒️ न्यूज़ या अपना विज्ञापन ईमेल करें dblnews07@gmail.com पर अथवा सम्पर्क करें मोबाइल नम्बर ��अगर आप हमारी पत्रकारिता को पसंद करते हैं और हमें आर्थिक सहयोग करना चाहते हैं तो 9416682080 पर फोन-पे, गुगल-पे या पेटीएम कर सकते हैं 9354500786 पर

मोबाइल पर समाचार सुने के लिए कृपया निचे दिया काले रंग के स्पीकर को दबाएं

बुधवार, मई 05, 2021

मांगेआना फल उत्कृष्टता केंद्र के उपनिदेशक आत्मप्रकाश सहित चार पर भ्रष्टाचार का मामला दर्ज

विजिलेंस विभाग के पुलिस अधीक्षक की शिकायत पर दर्ज किया मामला
Dabwalinews.com
गुप्तचर विभाग ने आखिरकार मांगेआना फल उत्कृष्टता केंद्र में बरती जा रही धांधली का भंडाफोड़ करने का काम किया है।इस केंद्र में अधिकारियों द्वारा सुनियोजित ढंग से धांधली किए जाने की शिकायत थी। मामले की जांच का जिम्मा गुप्तचर विभाग को सौंपी गई थी। जांच में सामने आई हकीकत के बाद विभाग के पुलिस अधीक्षक की ओर से सदर डबवाली थाना में मांगेआना फल उत्कृष्टता केंद्र के उपनिदेशक आत्मप्रकाश, उप अधीक्षक भूप सिंह, सुरजीत सिंह, अमर सिंह के खिलाफ भादंसं की धारा 409, 420, 120बी के तहत मामला दर्ज किया है।गुप्तचर विभाग के पुलिस अधीक्षक अशोक कुमार की ओर से दर्ज करवाई गई शिकायत में बताया गया है कि सिरसा जिला के गांव मांगेआना में फल उत्कृष्टता केंद्र स्थापित है। उन्होंने बताया कि केंद्र में भ्रष्टाचार की शिकायत मिली थी, जिसकी मुख्यमंत्री उडऩदस्ते से जांच करवाई गई थी। जांच में पाया गया कि उक्त केंद्र 72 एकड़ में बना हुआ है। जिसमें विभिन्न फलों के पेड़ लगे हुए है। केंद्र में वर्ष 6 सितंबर 2016 से आत्मप्रकाश बतौर उपनिदेशक कार्यरत है। केंद्र में एक साल छोड़कर दूसरे साल किसान जागरूतका सम्मेलन आयोजित किया जाता है। जिसमें प्रदेशभर से लगभग 8 हजार किसान शामिल होते है। सम्मेलन के दौरान किसानों को नाश्ता व जलपान करवाया जाता है। बताया गया कि वर्ष 2019-20 का सम्मेलन 5 व 6 जनवरी 2020 को आयोजित किया गया। जिसमें प्रदेशभर से 6 हजार किसानों का शामिल होना बताया गया। सम्मेलन के लिए उपनिदेशक आत्मप्रकाश व उप अधीक्षक भूप सिंह द्वारा सरकार से 17 लाख 18हजार 844 रुपये का बजट भेजा गया, जोकि पास नहीं हुआ। विभाग के ही महानिदेशक के आदेश पर एक अन्य माइक्रो इरिगेशन स्कीम के बजट से उक्त राशि केंद्र को दी जा चुकी है। इस पैसे को उपनिदेशक आत्मप्रकाश व उप अधीक्षक भूप सिंह द्वारा अलग-अलग गतिविधियों में खर्च करना दर्शाया गया। जांच में पाया गया कि उपनिदेशक आत्मप्रकाश, उप अधीक्षक भूप सिंह, विषय वस्तु विशेषज्ञ सुरजीत व अमर सिंह ने साईन एंड साइड सिक्योरटी सोलुशन प्रा. लि. से मिलीभगत करके भीमसैन पुत्र राजेंद्र सिंह, सुरेंद्र पुत्र रणबीर निवासी आनंदगढ़ की कागजों में हाजिरी दर्शाकर, बिल तस्दीक करके उनके नाम से वेतन जारी किया, जिसे एटीएम से निकालकर गबन कर गए। भीमसैन को 9 महीने और सुरेंद्र को 6 महीने नौकरी पर दर्शाया तथा एक लाख 20 हजार रुपये की राशि उनके खातों में डालकर निकाल ली। इसके साथ यह भी तथ्य सामने आया कि उपनिदेशक आत्मप्रकाश ने हाऊसरेंट लेकर भी अनियमितता की। सदर डबवाली पुलिस ने शिकायत के आधार पर सभी आरोपियों के खिलाफ मामला दर्ज किया है।

कोई टिप्पणी नहीं:

AD

पेज